क्या है वीडियो एडिटिंग और मोशन ग्राफिक्स, जानिए इनके करियर विकल्पों के बारे में!

video editing & motion graphics
Written By Editor
Video Editing | 2 Min Read

बदलते वक्त के दौर में चीज़ों को देखने के हमारे अनुभवों में लगातार बदलाव आ रहा है। एक समय था जब दीवारों पर स्लोगन लिखकर विज्ञापन होते थे, उसके बाद प्रिंट का ज़माना आया और अब डिजिटल युग में ग्राफिक्स और वीडियो से अपनी बात पहुंचाने का माध्यम प्रचलन में है। इन बदलावों ने जहॉं हमें आधुनिक बनाया है वहीं रोजगार के अवसरों में भी बढ़ोतरी की है। आज कई कम्पनीज़ में वीडियो एडिटिंग और मोशन ग्राफिक्स डिज़ाइनिंग में नौकरियां निकल रही हैं, बस ज़रूरत है तो अच्छे क्रिएटर की जो अपने हूनर के बल पर बेहतरीन क्रिएटीविटी दिखा सके। 

वीडियो एडिटिंग क्या होती है?

वीडियो एडिटिंग

अगर हम साधारण शब्दों में कहे तो बहुत सारी पूर्व में रिकॉर्ड किए वीडियो क्लिप्स को ​एडिट कर या उसे जोड़कर बेहतर बनाना ही वीडियो एडिटिंग कहलाता है। दूसरे शब्दों में कहे तो रिकॉर्ड किए गए वीडियो में कांट—छांट कर उसे सही रूप देना वीडियो एडिटिंग है। हम विज्ञापनों, फिल्मों, वेब सीरीज, सीरीयल्स में जो भी वीडियोज़ देखते हैं वे सभी क्लिप्स में ही होते हैं, क्योंकि पूरी स्टोरी को एक बार में शूट न किया जाकर कई क्लिप्स में शूट किया जाता है। जिसे बाद में जोड़कर, उनमें इफेक्ट्सस डालकर उसे बेहतर बनाया जाता है। वीडियो एडिटिंग एक कला है, जिसमें वीडियो एडिटर किसी सॉफ्टवेयर, ऐप के माध्यम से वीडियो को एडिट कर उसे आकर्षक रूप देने का कार्य करता है। वर्तमान में वीडियो एडिटर की बहुत डिमांड है। 

वीडियो एडिटर कैसे बनें?

 Video Editor

वीडियो एडिटर बनने के लिए आपको टूल्स की नॉलेज होनी बहुत जरुरी है। आपको विभिन्न सॉफ्टवेयर, एप आदि के बारे में मालूम होना चाहिए ताकि आप उनका सही उपयोग कर बेहतर वीडियो एडिटिंग कर सके। आज ऐसे कई टूल्स मौजूद हैं,  जिन्हें सीखकर सामान्य व्यक्ति भी एक बेहतर वीडियो एडिटर बन सकता है।   

मोशन ग्राफिक्स क्या होता है?

वीडियो एडिटिंग और मोशन ग्राफिक्स

मोशन ग्राफिक्स एक ऐसी तकनीक होती है जिसमें फोटो, टेक्स्ट और साउंड की सहायता से क्रिएटिव वीडियो बनाया जाता है। साथ ही इसमें स्टेटिक ग्राफिक्स में अलग अगल फ्रेम लगाकर ग्राफिक्स को मोशन में सेट किया जाता है यानी उनको गतिशील बनाया जाता है।

कौन कर सकता कोर्स?

who can do video editing course

सामान्य तौर पर स्किल्स से जुड़े कोर्सेज होने के चलते इसमें योग्यता का कोई निर्धारण नहीं है। लेकिन फिर भी व्यक्ति को कम्प्यूटर चलाना आना चाहिए। सा​थ ही सामान्य अंग्रेजी का ज्ञान होना भी आवश्यक है ताकि वह सॉफ्टवेयर, ऐप्स का आसानी से उपयोग कर पाए। 


video editing

वीडियो एडिटिंग और मोशन ग्राफिक्स में करियर विकल्प क्या है?

career in video editing

हम सभी जानते हैं कि आज का दौर डिजिटल युग की तरफ आगे बढ़ रहा है। हम दिन ब दिन पहले से ज्यादा डिजिटल होते जा रहे हैं और इस डिजिटल दुनिया में वीडियो का महत्व बहुत बढ़ गया है। अब लोग चीजों को पढ़ने और सिर्फ सुनने मात्र के बजाय उसे वीडियो के रूप में देखना भी चाहते हैं। ऐसे में डिजिटल मार्केटिंग, मीडिया समूह, एडवरटाइजिंग एजेंसी, प्रोडक्शन हाउसेज आदि में वीडियो एडिटर और मोशन ग्राफिक्स डिज़ाइनर की मांग बढ़ती जा रही हैं। अलग अलग क्षेत्रों में वीडियो एडिटर के कार्य भी अलग अलग होते हैं, आइए इनके बारे में विस्तार से जाने। 

फिल्म एडिटर

फिल्म एडिटिंग करियर में वीडियो एडिटर की भूमिका फिल्मों को एडिट करने की होती है। इसमें एडिटर लम्बे वीडियोज को एडिट कर उसे छोटा व सार्थक रूप प्रदान करता है। यह कार्य लम्बी अवधि का होता है। इसमें एडिटर को कई दिन तक लग जाते हैं। वीडियो एडिटर करियर में य​ह सबसे बड़े करियर के रूप में देखा जाता है। हम जो फिल्में देखते हैं, उसे एडिट करने का कार्य फिल्म एडिटर ही करता है। 

डॉक्यूमेंट्री वीडियो एडिटर

डॉक्यूमेंट्री वीडियो एडिटिंग करियर में वीडियो एडिटर 10 से 15 मिनट तक की डॉक्यूमेंट्रीज ए​डिट करने का कार्य करता है। जिसमें वह अलग अलग क्लिप्स को जोड़कर एक वीडियो तैयार करता है। यूट्यूब आदि पर देखी जाने वाली डॉक्यूमेंट्रीज उसी का उदाहरण है। 

एड वीडियो एडिटर

इसमें वीडियो एडिटर द्वारा 10 सेकंड से 2 मिनट तक का एक क्रियात्मक वीडियो तैयार किया जाता है। जिसमें संबंधित विज्ञापन वस्तु को वह आ​कर्षक ढंग से प्रस्तुत करने का कार्य करता है। 

न्यूज वीडियो एडिटर 

न्यूज वीडियो एडिटर का कार्य न्यूज बुलेटिन तैयार करना, प्रोग्राम बनाना, स्पेशल स्टोरीज तैयार करने आदि का रहता है। वह एंकर एवं वीओ के आधार पर विजुअल्स सेट करने जैसे महत्वपूर्ण कार्य करता है। 

इसी प्रकार मोशन ग्राफिक्स डिज़ाइनर की भी भूमिका रहती है। वह अपने स्तर पर ऐसे ही वीडियोज तैयार करता है। जिसमें उसके पास रॉ फूटेज नहीं होती है। कार्टून फिल्मे, एनिमेटेड वीडियोज, एनिमेटेड विज्ञापन इसके उदाहरण है। 

वीडियो एडिटर और मोशन ग्राफिक्स​ डिज़ाइनर को कितनी सैलरी मिलती है?

video editor salary

वीडियो एडिटिंग और मोशन ग्राफिक्स क्रिएटीविटी से जुड़ा हुआ करियर है। ऐसे में इसमें आम करियर के मुकाबले अधिक इनकम की संभावना अधिक रहती है। आज के समय में एक वर्ष के अनुभव वाला क्रिएटर भी आसानी से 4 से 5 लाख रूपए का वार्षिक पैकेज प्राप्त कर सकता है। इसके अलावा इस स्किल्स के कोर्सेज करने के बाद आप एक फ्रीलांसर के रूप में भी करियर शुरू कर सकते हैं। 

अत: यह कहना गलत नहीं होगा कि वीडियो एडिटिंग और मोशन ग्राफिक्स आज के समय की मांग है और इन क्षेत्रों में रोजगार की बहुत संभावनाएं भी बढ़ गई हैं। अगर आपमें क्रिएटीविटी है और आप वीडियो एडिटिंग और मोशन ग्राफिक्स में अपना करियर देखते हैं तो यह एक बहुत अच्छा विकल्प हो सकता है।

7 Animation & Motion Graphic Trends of 2021

What is Color Grading in Video Editing and Why is it Important?

The Five Essential phases of Video Editing

7 Animation & Motion Graphic Trends of 2021

What is Color Grading in Video Editing and Why is it Important?

The Five Essential phases of Video Editing