Career Guidance क्यों जरूरी है? Parents का गाइडेंस में क्या role है

Parental guidance
Written By Editor
Career Talk | 3 Min Read

सही मार्गदर्शन (Career Guidance) से ही आप अपने करियर में सही रूप से आगे बढ़ सकते हैं| बच्चो (Children) के एक अच्छे career को choose करने में parents का बहुत बड़ा योगदान रहता हैं| एक Research के अनुसार बहुत से टॉप performing kids नही जानते के उन्हें 10th 12th के बाद क्या करना चाहिए | बच्चों के बीच अपने future को लेकर काफ़ी confusion देखा गया है |

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि 10th, 12th important है but उससे भी ज़्यादा ज़रूरी है बच्चों को उनके future के बारे में भी जानकारी होना | children  के पास अक्सर इतनी information नहीं होती की वे अपने short-term or long-term goals decide कर सके | 

Career की एक सही शुरुआत के long-term benefits हैं | हमेशा से हमने यह सुना है क़ि एक बच्चे के future की नीव उसके घर से ही रखी जाती है | जितनी strong नीव उतना ही stable भवन , या यूँ कहें बच्चे का future |यही कारण है कि अभिभावकों (Parents) के द्वारा बच्चों(Children) से उनके career or future के बारे में चर्चा (discuss) करना और सही दिशा देना आवश्यक है |(For this reason it is necessary for parents to talk with the children about their future and career to give them the much needed direction.)

बच्चों और अभिभावकों के बीच इस conversation को करने की आवश्यकता क्यूँ है?

(Why is it necessary for parents to have this conversation with kids)

Parents role in career guidance


आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है | (Necessity is the mother of invention)

हमारे education system में सदियों से काई बदलाव आए हैअगर हम traditional system को consider करें तो technology advancement के साथसाथ अब वह outdated हो गई है |यही काऱण है कि We should talk with kids about their career | पहले के विकल्प(Options) limited थे | एक Traditional university या college degree प्राप्त करके आसानी से job मिल जाती थीपरंतु अब ऐसा नहीं हैंअब degree और skills का scope बहुत भड़ गया है | Also, अब traditional education system की जगह online e-learning system ने ले ली है |इसके साथ ही साथ job profiles और career opportunities भी काफ़ी हद तक बदल गये हैं

Traditional vs online education की बात करें तो traditional system औपचारिक शिक्षा और नौकरियों में gap create करता है  |  इसका मतलब है की नौकरी करने के लिए जो स्किल (skill)या ज्ञान (knowledge) आपके पास होना चाहिए और जो आपको college में पढ़ाया या सिखाया गया है उसमें बोहोत अंतर है ।  ये इसलिए हुआ है क्यूंकि jobs की nature पूरी तरह से बदल गयी है और academic structure इस बदलाव का मुकाबला नहीं कर पाया।

इसके अलावा traditional degree बहुत  महंगी और time-consuming और जोखिम भरी हो गयी हैइन सभी तथ्यों को ध्यान में रखकर, parents को चाहिए क़ि वो खुल कर, बिना झिझके अपने बच्चे के future goals को जानेऔर अगर उन्हे लगता है कि वो कहीं lack कर रहें है तो Parents should provide Career Guidance to their children और उन्हें सही दिशा में guide करें

Career Guidance क्यों जरूरी है ? 

(Why do your kids require career guidance ?)

why kids require career guidance

अच्छा और successful career बनाने के लिए specialized job-skills की ज़रूरत होती है | और इसके लिए interests, fundamental ओर likings को जानना बेहद ज़रूरी है | जागरूकता (awareness) के अभाव में स्टूडेंट्स traditional degrees कर बैठते हैं, For example, इंजिनियरिंग , BCA, medicine.  जो क़ि valuable job opportunities नही generate कर पाती |आज कल competition बहुत ज्यादा भड़ चूका है और किसी भी ऐसी field में successful होना जिसमे की आपके बच्चों का interest नहीं है, ये बोहोत मुश्किल हो गया है। बहुत सरे ऐसे field हैं जिनके बारे में लोगों को पता नहीं होता या फिर उनमे कैसे जाया जाये इसकी knowledge नहीं होती. और इसके लिए उन्हें traditional छोड़ कर E-Learning यानि online learning को अपनाना पड़ेगा |

Online Education क्या है?

online education

ऑनलाइन शिक्षा electronic medium से ली जाने वाली शिक्षा है |जो teacher or student के बीच कक्षा सामग्री के distribute के लिए इंटरनेट पर निर्भर करती है | इसे computer-based प्रशिक्षण, web-based प्रशिक्षण, internet-based प्रशिक्षण, online प्रशिक्षण, e-learning (इलेक्ट्रॉनिक लर्निंग), computer-aided online learning system etc. नामों से जाना जाता है |

भाषा के रुकावट और ख़ास कर के English के कारण रुकावट को  ख़त्म करने के लिए आजकल हिंदी में online courses बहुत प्रचलित है | यह students को subjects समझने में आसानी  करते हैं |

Online Education के फायदे |

Benefits-of-Online-Education

E-learning flexibility देती है : आप जो चाहें , जब चाहे सीख सकते हैं , बस requirement है internet connection की |इनकी कीमत Traditional courses से बेहद को होती है| आरामदायक : यह सीखने का आरामदायक medium है, घर बैठे आसानी से किया जा सकता है |Resume में एक extra skill जॉब्स में added advantage है | E-learning बेहतर Networking Opportunities प्रदान करता है |Experts के courses को आसानी से access किया जाता है | 

Parents को बच्चों से क्या बात करनी चाहिए ?

कहतें हैं, parents से अच्छा बच्चों को कोई नहीं जानताParents को चाहिए कि वो अपने बच्चे की रुचियों तथा पसंद को ध्यान में रखकर ही discussion को आगे  बढ़ायेसबसे पहले बच्चों से उनके interest और likings की जानकारी हासिल करने की कोशिश करें | बच्चे को observe करें और जानें, किस चीज़ में उनका मन ज़्यादा लगता हैउसके बाद उनके interest के according careers and courses की जानकारी हासिल करेंAlso, अपने बच्चे के interests को कुछ broad categories में divide करें और उनकी एक list बनायें

For example, अगर आपके बच्चे को music में interest है तो वह music में अच्छा career बना सकता है , अगर आपके बच्चे को art या painting में interest है तो आप वह creative designing में अच्छा career बना सकता है, etc.

अपने बच्चे के interest के अनुसार कैसे courses को ढूंडे ?

एक बार जब आपको अपने बच्चे के interest के बारे में general knowledge हो जाए तो आपको उस interest या field से job skills आसानी से search करी जा सकती है  |Online education इसमें काफ़ी मददगार साबित होता है |

कैसे ?आयें  जानते हैं |

क्या आपने micro-courses का नाम सुना है

micro-course

इनको  एक book के एक Chapter की तरह समझें | यह Chapter पूरे  book का एक छोटा सा sub-topic हैइस sub-topic को छोटे छोटे parts में divide करके आसान teaching material बनाया जाता है , जो क़ि आसानी से समझ में जाएMicro-courses का major उद्देश्य specific education system में subject related शैक्षिक पाठ्यक्रम प्रदान करना है। सीखने का ये method cost effective के साथ साथ time effective भी होता है ।यह short-term courses basically वीडियो format में internet पे मिलते हैं

इन e-learning micro-courses के निम्नलिखित benefits  हैं

e-learnig benefits

  1. यह कम लागत (investment) में बेहतर मूल्य (benefits) provide करता है |
  2. यह internet के medium से आसानी से किए जा सकते हैं |
  3. इनको आसानी से update हो जाते हैं और आपकी skills को अपडेट रखने में मदद करते हैं
  4. users अपनी गति से इन्हें सीख सकता है
  5. यह एक fun medium है  सीखने का |
  6. बच्चे का interest बरकरार रहता है  |

Online education से नयें , specific aspects को जानना practice करना , problems को solve करना आसान रहता है | 

फिर आता है Internship नामक एक Word | 

गर्मियों या सर्दियों की छुट्टी में बच्चो घुमाने के साथसाथ skills से related internships भी करवानी चाहिएFor example, अगर उनका interest painting में है तो उन्हें painting classes  में , dance में है तो dancing classes में दाखिला करना चाहिएइससे उनका confidence level भी बढ़ता  है और एक skill की जानकारी भी होती है |

इसके अलावा indoor projects या field activities भी बच्चों में job skills generate करने में काफ़ी मददगार साबित होते है

Internships and activities बच्चे के शारीरक तथा मानसिक विकास के लिए काफ़ी मददगार साबित होती हैइससे उनको अपने इंटरेस्ट को पहचानने में आसानी होती है।

Subhe, एक online platform जो ऐसे courses बनाता है जिससे इंडिया के students को नए दौर की jobs से related skills मिल सके ताकि उनको career बनाने में आसानी हो | ख़ास बात यह है क़ी भाषा की रुकावट को ख़त्म  करने के लिए इसमे सारे courses  हिन्दी में available हैंजो बच्चों के समझने में और आसानी करेगाचाहे वो  designing  से related course हो , web development से related हो या फिर business tools होProfessionals द्वारा provide किये गए हैं | 

Subhe आपको एक online मध्यम provide करता है जिससे कि आपका बच्चा आसानी से subject को grasp कर लेयहा सभी courses वीडियो lectures की form में दिए गये हैंआसानी  से website में इन्हे खोजा जा सकता है |

Conclusion

Current competition को ध्यान में रखते हुए अब सदियों से चली रही education की परंपरा को तोड़ना ही बेहतर हैTraditional education system अब किसी का भला नही करेगाअब online education के माध्यम से skills develop करना जोरो शॉरो में है

किफायती और time-saving होने के कारण यह आजकल प्रचल्न (Trend) में है  | eLearning में video lecturers के द्वारा आसानी से skilled education provide कराई  जाती है | Parents को चाहिए क़ि वो अपने बच्चे के interest के according उसे micro-sourses या  interships या projects करवाएइससे उनकी job-related skills भी develop होंगी तथा उनका confidence भी increase होगालेकिन सबसे पहले Parents को चाहिए की वो अपने बच्चों से उनके career के बारे में बात करें 

About the Author

Subhe E-Learning is an online library of video training courses, teaching new-age skills to Indian youth in Indian native Languages. It is one of the fastest-growing vernacular e-learning companies in India

How to Become a Freelancer in 2021

How to Create an Amazing Portfolio in 5 Simple Steps

Master’s Program With Guaranteed Internship At Subhe eLearning

How to Become a Freelancer in 2021

How to Create an Amazing Portfolio in 5 Simple Steps

Master’s Program With Guaranteed Internship At Subhe eLearning